माथे पर दमके सिंदूरी टीका
और अँख़ियों में फैल गया कजरा
हाथों में है पी तेरे नाम की मेहंदी
और बालों में सजा जूही का गजरा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here